यह ब्‍लॉग आपके लिए है।

स्‍वागत् है!

आपका इस ब्‍लॉग पर स्‍वागत है! यह ब्‍लॉग ज्‍योतिष, वास्‍तु एवं गूढ वि़द्याओं को समर्पित है। इसमें आपकी रुचि है तो यह आपका अपना ब्‍लॉग है। ज्ञानवर्धन के साथ साथ टिप्‍पणी देना न भूलें, यही हमारे परिश्रम का प्रतिफल है। आपके विचारों एवं सुझावों का स्‍वागत है।

बाधा मुक्ति एवं वैभव प्राप्ति का अनुभूत प्रयोग

>> Sunday, January 16, 2011



यदि आपके सम्मुख आए दिन कोई न कोई बाधा खड़ी हो जाती है। आप कितना भी प्रयास करें पर बाधा पीछा ही नहीं छोड़ती है। यहां तक कोई भी कार्य बिना बाधा के बनता ही नहीं है। यहां तक आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं रहती है। वैभव चाहकर भी नहीं बढ़ता है। यदि आपके साथ ऐसा है तो यह प्रयोग आपके लिए है। इस प्रयोग को शुक्लपक्ष के सोम, बुध, गुरु या शुक्र वार को अपने इष्ट के समक्ष धूपदीप जलाकर 21 दिन तक बिना नागा अधोलिखित मन्त्र का करने से मनोकांक्षा पूर्ण होती है। बाद में भी प्रतिदिन एक माला कर सकते हैं लाभ ही होगा। मन्‍त्र इस प्रकार है-
ऊँ सर्वबाधाविनिर्मुक्तो धनधान्यसुतान्वितः। मनुष्यो मत्प्रसादेन भविष्यति न संशयः॥
आपको लाभ हो तो आप भी दूजों को बताकर लाभ पहुंचाकर यश व दुआ पा सकते हैं।

1 comments:

अम्बरीष कुमार गोपाल February 15, 2011 at 10:23 PM  

इस मंत्र से सम्पुट करके अगर दुर्गा पाठ किया जाय तो यह अत्यंत लाभकारी होता है और सब प्रकार की विघ्न-बाधाओं को दूर करता है.

अम्बरीष कुमार गोपाल

आगुन्‍तक

  © Blogger templates Palm by Ourblogtemplates.com 2008

Back to TOP